By : Abhishek Mishra   |   03-01-2019    |    Views : 0005407



लिव-इन पार्टनर से शारीरिक संबंध बनाना रेप नहीं


सुप्रीम कोर्ट ने महाराष्ट्र की एक नर्स द्वारा एक डॉक्टर के खिलाफ दर्ज कराई गई प्राथमिकी को खारिज करते हुए कहा कि लिव इन पार्टनर के बीच सहमति से बना शारीरिक संबंध बलात्कार या रेप नहीं होता, अगर व्यक्ति अपने नियंत्रण के बाहर की परिस्थितियों के कारण महिला से शादी नहीं कर पाता है।