By : Ashish Awasthi   |   23-11-2018    |    Views : 0005266



प्रकाश पर्व विशेष: लालची आदमी ने गुरुनानक को नहीं पिलाया था पानी


भारत में कार्तिक पूर्णिमा को बहुत पवित्र दिन माना जाता है। हिन्दू मान्यताओं के अनुसार, इस दिन सुबह उठकर गंगा स्नान करने वाला व्यक्ति, सभी दोषों से मुक्त हो जाता है और उसकी मनोकामना पूर्ण होती है। वहीं, ये दिन सिख समुदाय के लोगों के लिए भी बेहद खास है। इसी दिन सिख धर्म के संस्थापक गुरुनानक देव का भी जन्मदिन मनाया जाता है। सिख समुदाय के लोग गुरुनानक देव की जयंती को प्रकाश पर्व के तौर पर मनाते हैं। गुरु नानक देव से जुड़ी कई ऐसी कहानियां हैं, जो बेहद दिलचस्प हैं और हमें सच्चाई और मानवता के मार्ग पर चलने के लिए प्रेरित करती हैं। गुरुनानक देव की एक ऐसी की कहानी है, जो बहुत ही ज्यादा प्रचालित है।