By : Abhishek mishra   |   15-09-2018    |    Views : 000261



न्यूज टाइम्स की खबर का असर ,प्रशासन की टूटी नींद !


मलिहाबाद तहसील मे भ्रष्टाचार का बोलबाला शीर्षक से वायरल खबर के बाद तहसील प्रशासन की नींद टूटी। तो वहीं अभी तक की गयी कार्रवाई यह दर्शाती है कि तहसील प्रशासन मलिहाबाद थाने मे अज्ञात कर्मचारीगणों के खिलाफ फर्जी इन्द्राज रकबा व अभिलेख गायब करने व धोखाधड़ी करने की धाराओं मे एफआईआर दर्ज करने के बाद अपनी कार्रवाई पूर्ण मानता है। इसके अलावा एसडीएम जय प्रकाश ने माना कि कुछ कर्मचारियों की भूमिका संदिग्ध है परन्तु इस मामले मे वह अपने पेशकार को किसी तरह से दोषी नही मानते । एसडीएम का कहना है कि इस मामले मे पूर्व पेशकार स्व0 अजय निगम दोषी हैं। जबकि अन्य अधिकारियों का कहना है कि जो भी कर्मचारी उस कार्यालय मे उस समय अहलमद के पद पर था या उस कार्यालय के जिस कर्मचारी या अधिकारी का रिस्तेदार या उसका कोई हित साधक होगा वह भी संदिग्ध हो सकता है। वह भी जॉच के दायरे मे आएगा।