By : Abhishek mishra   |   10-09-2018    |    Views : 000180



मलिहाबाद तहसील में भ्रष्टाचार का बोल -बाला


मलिहाबाद तहसील के अधिकारियों एवं कर्मचारियों मे डर नाम की चीज नहीं रह गयी है तभी तो मुख्यमंत्री सहित सभी अधिकारियों को गुमराह करने के बावजूद उनका बालबांका नही हो रहा। यहाॅ तैनात रहे भ्रष्टाचार मे लिप्त कर्मचारियों को बचाने का काम पेशकार आशीष यादव कर रहे हैं। क्योंकि उनके कुछ रिस्तेदार भी इसमें संलिप्त थे। मलिहाबाद तहसील मे किस कदर वर्षों से भ्रष्टाचार व्याप्त है इसकी एक बानगी कसमंडीकला गांव मे देखने को मिली। यहाॅ तैनात रहे लेखपालों मुन्नालाल व सन्तराम यादव ने तहसील के अधिकारियों की मिली भगत से सरकारी तालाब के गाटा सं0 1060 का रकबा कम करके दो व्यक्तियों के नाम नया खाता बना दिया।