By : Abhishek Mishra   |   01-11-2018    |    Views : 000161



लखनऊः चौराहों पर लगाने होंगे एयर प्योरिफायर


शहर की आबोहवा इतनी बिगड़ चुकी है कि अब व्यस्त चौराहों पर भी एयर प्योरिफायर लगवाने की जरूरत है। हर साल शहर में वायु और ध्वनि प्रदूषण पर सर्वे करने वाले इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टॉक्सिकॉलजी रिसर्च (आईआईटीआर) ने इस बार पोस्ट मॉनसून रिपोर्ट में यह नया सुझाव जोड़ा है। मॉनसून रिपोर्ट प्रॉजेक्ट के टीम लीडर डॉ. एससी बर्मन के मुताबिक, यातायात की समस्या से जूझ रहे शहर के बड़े चौराहों पर धूल हटाने वाली मशीनें लगाकर हवा को साफ रखा जा सकता है। इस तरह की मशीन धूल में मौजूद पार्टिकुलेट मैटर को अवशोषित कर लेती है। कई कंपनियां ऐसी मशीन बना रही हैं और दिल्ली में कुछ जगहों पर इसके इस्तेमाल पर चर्चा चल रही है। आईआईटीआर की ओर से बुधवार को जारी पोस्ट मॉनसून रिपोर्ट के मुताबिक, शहर में इंदिरानगर, आलमबाग और चारबाग इलाके में रहने वाले लोग सबसे ज्यादा प्रदूषित हवा में सांस ले रहे हैं। आईआईटीआर की टीम ने सितंबर-अक्टूबर महीने में पूरे शहर के नौ स्टेशनों पर हवा में मौजूद प्रदूषक तत्वों का आंकलन किया।