By : Abhishek mishra   |   15-09-2018    |    Views : 0005363



तीन तलाक पर मुखर मोदी, क्या दाऊदी बोहरा मुस्लिम महिलाओं को दिलाएंगे खतने से आजादी


मोदी सरकार के दौरान देश के मुसलमानों से जुड़ा तीन तलाक का मुद्दा सबसे ज्यादा चर्चा का विषय बना. एक बार में तीन तलाक को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारतीय जनता पार्टी ने मुस्लिम महिलाओं के अधिकारों का हनन करार देते हुए प्रमुखता से उठाया. सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में भी इस प्रथा को खत्म करने की वकालत की, जिसके बाद संवैधानिक पीठ के फैसले में एक साथ तीन तलाक को अवैध ठहराया गया. इसके बाद मुस्लिम महिलाओं का खफ्ज (खतना) खत्म कराने के लिए भी पीएम मोदी से मांग की गई, लेकिन यह मसला कभी बीजेपी या पीएम मोदी के भाषणों का हिस्सा नहीं बना. हालांकि, यह मामला भी फिलहाल सुप्रीम कोर्ट में है.