By : Abhishek Mishra   |   23-11-2018    |    Views : 000157



बनारस में ही क्यों मनाई जाती है देव दीपावली


कार्तिक पूर्णिमा का हिंदू धर्म में काफी महत्व होता है। इस दिन कार्तिक का पुण्य महीना समाप्त होने के साथ ही भगवान विष्णु चतुर्मास की निद्रा के बाद सृष्टि संचालन का काम फिर से अपने हाथों में ले लेते हैं। देवउठनी एकादशी पर भगवान विष्णु के चतुर्माशी निद्रा से जागने के बाद सभी देवता दीपदान करते हैं इसलिए इस पर्व को देव दिवाली कहा जाता है। मान्यताओं के अनुसार दीपावली पर माता लक्ष्मी अपने प्रभु भगवान विष्णु से पहले ही जाग जाती है इसलिए दीपावली के 15वें दिन कार्तिक पूर्णिमा को देवताओं की दीपावली मनाई जाती है। इस पूर्णिमा को त्रिपुरारी पूर्णिमा के नाम से भी जाना जाता है। मान्यातनुसार भगवान शिव ने कार्तिक पूर्णिमा के दिन काशी में पहुंच कर त्रिपुरासुर राक्षस का वध कर सभी को उसके अत्याचारों से मुक्ति दिलाई थी। इससे प्रसन्न होकर सभी देवताओं ने स्वर्ग लोक में दीपोत्सव मनाया था