By : Abhishek Mishra   |   29-11-2018    |    Views : 00099



बजरंगबली पर योगी का बयान, बढ़ता जा रहा विवाद


राजस्थान विधानसभा चुनाव प्रचार के दौरान अलवर में प्रचार करते हुए यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ द्वारा बजरंगबली पर दिए गए बयान पर विवाद हो गया है। एक ओर जहां विपक्ष ने इसे वोट पाने का रणनीति बताया है, वहीं दूसरी ओर एक्सपर्ट का कहना है कि पुराने समय में लोग जातियों में नहीं बंटे थे। डॉ. राम मनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. मनोज दीक्षित ने सीएम का नाम लिए बिना अपनी फेसबुक वॉल पर लिखा, ‘देवी-देवताओं की जाति और धर्म को न ढूंढ़ें। हमारे लिए वह आस्था का विषय हैं, आपके लिए हो सकता है राजनीति का हो। हमने तो कभी नहीं सुना कि हनुमान जी दलित थे या महिषासुर दलित था। वैदिक काल में न तो धर्म थे न जाति।’